हे बीजेपी आइटी सेल के परम तिकड़मबाजों, जब आम आदमी पार्टी की रैली में गजेंद्र सिं…

हे बीजेपी आइटी सेल के परम तिकड़मबाजों,

जब आम आदमी पार्टी की रैली में गजेंद्र सिंह नामक किसान ने आत्महत्या की तब आप लोगों ने उसे कई एकड़ जमीन का मालिक कह कर मोदी सरकार का बचाव किया।

वन रैंक वन पेंशन के लिए आन्दोलन कर रहे भूतपूर्व सैनिक रामकिशुन ग्रेवाल ने ख़ुदकुशी की तब आपने उसे मानसिक रूप से बीमार और कांग्रेस का सदस्य साबित करने के लिए अपने पूरे घोड़े खोल डाले।

राष्ट्रवाद की दुहाई देते हो ,पर आपने ख़राब खाने की शिकायत करने वाले तेजबहादुर यादव को भी नही छोड़ा। उसकी जाति तक को गालियाँ दी गयी।
आर्मी मेस में कटे पनीर के ढेर की फोटो फैलाई गयी।

युद्व नही शान्ति की बात करने वाली एक शहीद की बेटी गुरमेहर कौर की भी आपने खूब छीछालेदर की फेसबुक,व्हाट्सएप पर एक बंगलादेशी लड़की जो शराब पीकर कार में नाच रही है। उसे गुलमोहर कौर बता कर इतना झूठ फैलाया कि,उस वीडियो को देखने के रिकार्ड टूट गए और “मेरे रश्के कमर ” गाना भारत के बच्चे बच्चे की जुबान पर आ गया।

तमिलनाडु के किसानो के आन्दोलन पर आप चुप रहे पर जैसे ही उन्होंने मूत्र पिया और पूरे देश में थू थू होने लगी। आप अचानक से सक्रिय हुये । ये मोदी जी को बदनाम करने के लिए वामपंथियों की साजिश है, बताकर झूठे फोटो सेशन करवा कर उन्हें नकली किसान बताने लगे।

मध्यप्रदेश में शवराज सरकार ने किसानों पर गोली चलवाई ,तो आपने आंदोलनकारी किसानों की जीन्स पैंट की फोटो फैलाकर उनके किसान न होने का प्रचार किया।

हमको मालूम है अफवाह फैलाने में संघ का कोई मुकाबला नहीं कर सकता। गणेश की मूर्ति को दूध पिलाने वाले,मुहंनोचवा का डर फैलाने वाले लोग आपके आदर्श हैं। उनके इशारे पर आप व्हाट्सएप पर ऐसी हवा पैदा करते हो जो चंद घंटो में देश के हर घर में मोबाइल फोन के जरिये फ़ैल जाती है।

हे सर्व शक्तिमान लोगों, जीएसटी और नोटबन्दी से तबाह एक भक्त कारोबारी प्रकाश पाण्डेय ने जहर खा कर आत्महत्या कर ली। सिंगल ब्राण्ड रिटेल में 100 प्रतिशत एफडीआई का फैसला आने पर राम जी न करें कि, पाण्डेय जैसों की गिनती और बढ़े।

खैर छोड़िए, देखते हैं स्वदेशी आंदोलन के समर्थक आप लोग एफडीआई के इस मामले आप किस तिकडम से सँभालते हो ?

और सुनिए, सरकार के इस फैसले को देशहित और राष्ट्रवाद से जोड़ने से पहले मोदी जी,जेटली जी,सुषमा जी रविशंकर प्रसादवा के एफडीआई के खिलाफ दिए गए भाषण सुन लेना। यूट्यूब पर उपलब्ध हैं।
#सत्यार्थ
~via Rajesh Yadav

7 thoughts on “हे बीजेपी आइटी सेल के परम तिकड़मबाजों, जब आम आदमी पार्टी की रैली में गजेंद्र सिं…”

Comments are closed.