भक्त होना कठिन है। हर कोई भक्त नही हो सकता। कठिन इम्तिहानों से गुजरना पड़ता है। क…

भक्त होना कठिन है। हर कोई भक्त नही हो सकता। कठिन इम्तिहानों से गुजरना पड़ता है। क्योंकि जब तुम मोदीजी को सच्चे दिल से चाहो तो पूरी कायनात उनके खिलाफ साजिश करने लग जाती है। और ऐसे में साजिश करने वाले को गरियाने का मन करता है, चाहे वो रिश्ते में बाप ही काहे न लगते हों।

4 thoughts on “भक्त होना कठिन है। हर कोई भक्त नही हो सकता। कठिन इम्तिहानों से गुजरना पड़ता है। क…”

  1. बात तो सही है लेकिन कुछ लोचा है।देश का गद्दार जिसका नेतृत्व जवाहर लाल और उसका कूनवा अभी तक देश के साथ जो गद्दारी कर रहा है।

Comments are closed.