GST का नाम लेते ही भड़ककर हिमाचल के व्यापारियों ने क्या कहा? Virbhadra Singh J.P…


GST का नाम लेते ही भड़ककर हिमाचल के व्यापारियों ने क्या कहा?
Virbhadra Singh J.P.Nadda Prem Kumar Dhumal Narendra Modi
#HimachalElections #HimachalChunav

12 thoughts on “GST का नाम लेते ही भड़ककर हिमाचल के व्यापारियों ने क्या कहा? Virbhadra Singh J.P…”

  1. एकदम सही कहा है जब दोनों जगह कांग्रेस की सरकार आयेगी तब गारंटीड भाजपा का घमंड टूटेगा और GST और अन्य जन विरोधी अभियान के मार से जनता का बचाव होगा।

  2. “अल्लाह ईश्वर GOD” The #CreatorBrahma ने अपना फैसला सुना दिया अब आप हिंदुस्तान के लोगो किसकी राह देख रहे हो?

    #PModiACurseअभिशाप
    अच्छेदिन या अभिशाप?
    Since 26 May 2014
    📌30 children die in Gorakhpur hospital, UP says seven, announces probe
    📌Gujarat: 18 newborns die at Ahmedabad’s government-run Civil Hospital in 3 days
    📌मेरे जनाजे की पीछे सारा ज़माना निकला, मगर वो न निकला जिसके लिए मेरा जनाज़ा निकला

  3. *मोदी राज में GST ने दीवाली पर व्यापारियों का दम घोंट दिया*

    *हीरो मोटोकॉर्प ने अपना दुख व्यक्त करते हुए धनतेरस पर रिकॉर्ड 3 लाख वाहन बेच दिए।*

    *दो दिनों में व्यापारियों ने मोदी को लानत भेजते हुए रिकॉर्ड 20 लाख GST रिटर्न्स दो दिन में भेज दिए*

    *जीएसटी और नोटबंदी से बर्बादी के कारण दिल्ली में लोगों के पास पैसा न होने के कारण धनतेरस के दिन लोग घर से नहीं निकले और बाजारों में कर्फ्यू जैसी स्थिति दिखी*

    *इस अघोषित कर्फ्यू से बचते हुए कुछ लोग छिप छिपाकर निकले और केवल १८०० करोड़ से कुछ अधिक कारोबार हुआ एक दिन में… यह कारोबार पिछले साल के १३५० करोड़ के मुकाबले मात्रा ४५० करोड़ ही ज्यादा हो सका*

    *इतना ही नहीं जीएसटी से परेशान और बर्बाद होकर घोर दरिद्रता में बसर कर रही जनता के कुछ मुट्ठी भर लोग किसी तरह बाजार पहुँच कर केवल १५००० चार पहिया और लाखों दुपहिया वाहन ही खरीद सके*

    *जीएसटी और नोटबंदी से आयी बर्बादी से जनता रो रही है और आर्थिक हालात इतने ख़राब हैं कि यहाँ दिल्ली में एक व्यक्ति किसी तरह चवन्नी-अठन्नी जुटाकर ७० लाख का हीरे का सस्ता सा हार खरीद सका…*

    *इस अभूतपूर्व मंदी के लिए कोंग्रेसियों ,वामिओं, आपियों, लालुओं, कलुओं, बुद्धिजीविओं, अवार्ड वापसी पत्रकारों व सेक्युलरों ने खूब घड़ियाली आँशु बहाये और मोदी को देश की इस दशा के लिए जमकर कोसा….*

  4. 1. कंपनी के MD: मोदी ने फर्जी तीन लाख कंपनी बन्द कर दी।
    2. राशन डीलर नाराज़ हो गये: राशन कार्ड सब्सिडी आधार कार्ड से जोड़ दिया।
    3. प्रॉपर्टी डीलर नाराज हो गये: दो लाख से ज्यादा Cash पेमेंट में रोक लगा दी।
    4. दलाल नाराज: ऑनलाइन सिस्टम बनने से दलाल नाराज हो गये।
    5. NGO के मालिक नाराज़: 40,000 से अधिक NGO बन्द हो गये।
    6. नम्बर दो की इनकम से प्रॉपर्टी खरीदने वाले नाराज हो गये।
    7. E-tender होने से ढेकेदार नाराज हो गये।
    8. गैस एजेंसी वाले नाराज हो गये: गैस सब्सिडी को आधार कार्ड और बैंक खाते से जोड़ दिया गया।
    9. इनकम टैक्स की चोरी करने वाले नाराज: अब तक 12 करोड लोग इनकम टैक्स के दायरे मै आ चुके हैं।
    10. GST सिस्टम लागू होने से ब्यापारी नाराज: व्यापारी लोग आटोमेटिक सिस्टम में आ गये।
    11. बेनामी संपत्ति वाले नाराज: बेनामी संपत्ति कानून को लागु किया इसलिए पुराने चोर परेशान हैं।
    12. नम्बर-२ का काम वाले नाराज: क्योकि ऐसे लोगो का फलना फूलना बन्द हो गया।
    13. ब्लैक को वाइट करने वाले नाराज: दो लाख से ज्यादा Cash पेमेंट में रोक लगा दी।
    14. आलसी अधिकारी नाराज हो गये: क्योकि अब ऑफिस में समय पर जाकर काम करना पड रहा हैं।
    15. वो लोग नाराज हो गये जो समय पर काम नही करते थे और रिश्वत देकर काम करने मे विश्वास करते है।
    16. घोटाले करने वाले पुराने नेता और अधिकारी नाराज हैं: क्योकि मोदी जी ईमानदार हैं ये बात हर किसी को अच्छी तरह पता हैं।
    17. फर्जी कंपनी खाता धारक वाले नाराज हैं: क्योकि बैंक एकाउंट्स को आधार कार्ड और पैन कार्ड से जोड़ दिया गया।
    18. करोड़ो का Cash से कारोबार करने वाले नाराज हैं: क्योकि नोट बंदी से करोड़ो का घर में रखा हुवा Cash बैंक में जमा हो गया।
    19. लाखो, करोड़ो की ज्वेलरी Cash में बेचने और खरीदने वाले नाराज हैं: क्योकि पैन कार्ड अनिवार्य कर दिया।
    20. जिनको राजनीति विरासत में मिली हैं वो नाराज हैं: पहली बार इनको पता चला हैं अब राजनीति विरासत से नहीं चलने वाली अब जनता काम मांगती हैं क्योकि जनता को जागरूक करने का काम मोदी जी ने किया हैं।
    इन लोगो का दुखी होना लाजमी है।
    देश वदलाव की कहानी लिख रहा है जिसे समझ है और जो ईमानदार हैं वही सही -गलत और मोदी जी को समझ पा रहा हैं. चोर, फ्री का माल खाने वाले, टैक्स की चोरी करने वाले कोस रहे है। …
    सभार

Comments are closed.