रमण सिंह का 36 हजार करोड़ का चावल घोटाला. सवा सौ करोड़ नागरिक ईमानदारी की अपेक्ष…

रमण सिंह का 36 हजार करोड़ का चावल घोटाला. सवा सौ करोड़ नागरिक ईमानदारी की अपेक्षा कर रहे हैं मोदीजी, कब उठाएँगे इन पर कोई ठोस कदम?????

25 thoughts on “रमण सिंह का 36 हजार करोड़ का चावल घोटाला. सवा सौ करोड़ नागरिक ईमानदारी की अपेक्ष…”

  1. सामाजिक न्याय की लड़ाई कभी कोई राजनेता नहीं लड़ता है। वो तो बस उस लड़ाई को हाईजैक करता है। लड़ाई आम लोगों को ही लड़नी है, इसलिए किसी राजनेता पर सामाजिक न्याय या किसी भी मुद्दे पर लड़ने के लिए बेहद भरोसा ना करें।

  2. Bhai agar aap log sahi me des se payar karte hai to gomrah hone se bache bjp ka asli chehra pahchane khud ke girban me jhakne ke bajay dusre ko badnam karke sarkar chala rahi hai aap log dhayan se dekhiy aap log ko kitna yeh sarkar loot rahi hai

  3. राहुल बाबा से तो तेज प्रताप अच्छा है । काम से कम 28 साल की उम्म्र मे बोलना तो सीख गया । अच्छी फाइट दी नितीश कुमार को । राहुल जी बात न हमको समझ आती है और न ही कांग्रेस वालो को

  4. बिहार गौरक्षको मे इतनी खुशी की लहर है की समझ ही नहीं पा रहे की मिठाई खाये या गोबर ! 😀

  5. भारत में गरीबी मत हटाओ
    भारत में बेईमानी हटाओ
    बाकी सब मोदी जी देख लेंगे

  6. Congress communal party hai
    But bjp ko communal kehte hai
    Ram mandir issue par congress Muslims ke sath khaki hai
    But sachai yeh hai dosto
    Ram ka janam ayodhya mai hua to vahi mandir banana chaiye

    Babar ki masjid dusri jagah bhi ban sakti hai

    Babar koi khuda nahi hai

    Congress orthodox party hai

    Vo 1400 sale purana tin talak 21 vi sadi mai jyo ka tyo rakhana chahti hai

    Mai jat kom sai hu aur jat vote bank congress ke sath raha hai

    But ab nahi rah sakte hai
    Indra Ji tak congress Indian national congress thi
    Aaj ki congress Islamic national congress hai

  7. भाजपा के नेताओं के ऊपर ऐसा मोदी केमिकल लगा हैं जिससे दाग को अंदर ही समाप्त कर देते हैं सो दाग लगने का सवाली नही उठता।

  8. ये भी कोई घोटाला है,ये तो ऊट के मुहँ मे जीरे के समान है और वैसे भी इस सरकार के सारे घोटाले देश पर किये गये उपकार है और इसके लिये देश के लोगो को इनपर गर्व होना चाहिये

  9. अरे भाइ जब देशके पीयमही गुजरातमे खुनी खेलखेलके देशके पीयम बनतेहै उससे इमानदारी काहासे आयेगी याहातो चोरचोर मौसेरे भाईहै

  10. सबी नागरिक को अपने आप कुछ करना पडता है, नेता सब ऐक जेशे है? अपेक्षा मत रखो ? सुप़ीमकोड है वरना नेतालोग देश हि बेच डाले ,? सपतलेने का ता ऐक ओपचारिक ता है , नाकि पालन करना ,?

  11. Congress has been wiped out because of their honesty. Those who deliver speech written by someone else can never know how to make room in people’s heart. Only one man like Hanuman set whole Lanka of congress on fire. You are lucky that there is only one otherwise…..

  12. मोदीजी देश की कुल आबादी मे से केवाक सवा सौ करोड़ लोगों से ईमानदारी की बात करते है शेष 10 -15 करोड़ के विषय मे कुछ नही कहते
    सोच बदलो देश बदलो

  13. ,,अरे,,कम,,अकलो,,हम,,,ईमानदार,,बन,,गयेतो,,,वीघायको,,की,,खरीदफरोकत,,,कोन,,,करेगा,,,,,,बीना,,पैसे,,दंगा,,फसाद,,कैसे,,,,,होगा,,,

  14. Congress vale to koyla, common wealth game, 3g spectram me ghotala karte thee achha tha kyo ki vo public ke khane par asar nahi karti thi..

    Sale BJP vale to public chijo par ghotala karte he.. Petro, pani, chaval, milk

  15. जब पूरा सिस्टम ही बेईमान है तो ईमानदारी की बात कहां से आएगी चाहे देश का राजनेता हो या कुर्सी पर बैठा हुआ उच्च अधिकारी यह सभी जानते हैं कि भ्रष्टाचार कहां से हो रहा है फिर भी जो पकड़ में आया उसकी किस्मत खराब है जो लोग जो बच निकला वह किस्मत वाला यही हमारे देश का फंडा है

Comments are closed.